“योग है जीवन की कड़ी, इसे अपनाएं हर घड़ी”अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं!

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, जिसे विश्व योग दिवस भी कहा जाता है, हर साल 21 जून को मनाया जाता है। दिसंबर 2014 में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्ताव के बाद संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इस दिन को आधिकारिक रूप से मान्यता दी।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत 27 सितंबर 2014 को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रस्ताव रखने से हुई। इस प्रस्ताव को 177 देशों का समर्थन मिला और 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया। 21 जून को वर्ष का सबसे लंबा दिन होने के कारण चुना गया। पहला योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसमें भारत के राजपथ पर एक विशाल योग सत्र आयोजित हुआ। इस दिन का उद्देश्य योग के शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक लाभों के प्रति जागरूकता बढ़ाना और वैश्विक शांति और सद्भावना को बढ़ावा देना है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उद्देश्य:

1. वैश्विक शांति और सद्भावना: स्वास्थ्य और कल्याण के समग्र दृष्टिकोण को बढ़ावा देकर, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस विभिन्न संस्कृतियों और पृष्ठभूमियों के लोगों के बीच शांति और सद्भावना का संदेश फैलाता है।

2. स्वस्थ जीवनशैली: नियमित योग अभ्यास के माध्यम से लोगों को स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए प्रोत्साहित करता है, जो तनाव प्रबंधन, शारीरिक फिटनेस में सुधार और जीवन की समग्र गुणवत्ता में सुधार कर सकता है।

महत्व:

• स्वास्थ्य लाभ: योग के अनेक स्वास्थ्य लाभ होते हैं, जैसे कि लचीलेपन, ताकत, संतुलन और मानसिक स्पष्टता में सुधार। यह तनाव को कम करने में भी मदद करता है और विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं को कम कर सकता है।

• सांस्कृतिक धरोहर: यह दिन भारत की समृद्ध सांस्कृतिक धरोहर का जश्न मनाता है, जहां योग की उत्पत्ति 5,000 साल से भी अधिक समय पहले हुई थी।

• वैश्विक एकता: इस दिन योग का अभ्यास करके, दुनिया भर के लोग एकता और एकजुटता का प्रदर्शन करते हैं, जो सांस्कृतिक और भौगोलिक सीमाओं से परे है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को दुनिया भर में मनाया जाता है। इसके अंतर्राष्ट्रीय रूप से मनाए जाने के प्रमुख कारण निम्नलिखित हैं:

1. वैश्विक जागरूकता:

योग के लाभों के बारे में वैश्विक जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से इस दिन को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाया जाता है। विभिन्न देशों में योग कार्यक्रम और आयोजन किए जाते हैं, जिससे लोग योग के महत्व को समझते हैं और इसे अपनाने के लिए प्रेरित होते हैं।

2. संस्कृति और परंपरा का प्रचार:

योग भारतीय संस्कृति और परंपरा का महत्वपूर्ण हिस्सा है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के माध्यम से इस सांस्कृतिक धरोहर का प्रचार और प्रसार होता है, जिससे विभिन्न देशों के लोग इसके महत्व को समझते हैं और इसे अपने जीवन का हिस्सा बनाते हैं।

योग दिवस के बारे में और भी रोचक तथ्य निम्नलिखित हैं:

1.  गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड: पहले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर, नई दिल्ली के राजपथ पर आयोजित कार्यक्रम में 35,985 लोगों ने एक साथ योग किया था, जो एक गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बना।
2.  संयुक्त राष्ट्र का समर्थन: संयुक्त राष्ट्र महासभा के 193 सदस्य देशों में से 177 देशों ने योग दिवस के प्रस्ताव का समर्थन किया था, जो इस प्रस्ताव को सबसे अधिक समर्थन मिलने वाले प्रस्तावों में से एक बनाता है।
3.  ग्लोबल आउटरीच: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के माध्यम से योग की पहुंच को वैश्विक स्तर पर फैलाने का प्रयास किया गया है। इस दिन कई देशों में विभिन्न भाषाओं में योग सत्र आयोजित किए जाते हैं।

सबको योग दिवस मनाना चाहिए और इसका सम्मान करना चाहिए। योग हमारे शारीरिक, मानसिक और आत्मिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। यह हमें स्वस्थ और संतुलित जीवन जीने में मदद करता है। योग दिवस के माध्यम से हम योग के लाभों के बारे में जागरूकता फैला सकते हैं और इसे अपने जीवन का अभिन्न हिस्सा बना सकते हैं।

www.uprisingbihar.com
116, Rajput nagar,
Hajipur,, Bihar 844101
India
Follow us on Social Media